विवाह प्रमाण पत्र क्या है? विवाह प्रमाण पत्र के लिए क्या दस्तावेज चाहिए?

83 / 100 SEO Score

Marriage Certificate

भारतीय कल्चर में विवाह को पवित्र  माना जाता है। यह दो लोगों के बीच एक पवित्र बंधन है, जिसके तहत वे अपने जीवन के बाकी हिस्सों को एक साथ बिताने के लिए दोनों राजी होते है । भारत में विवाह पंजीकरण कानून  हैं। जिसके तहत आप लीगल तरीके से आप अपना विवाह कर सकते है |

शादी के बाद वर और वधू के बीच मेलजोल बढ़ जाता है, कुछ निश्चित आवश्यकताएं होती हैं, जिन्हें पूरा करने के लिए इसे कानूनी रूप देना चाहिए,|

विवाह प्रमाण पत्र(marriage certificate) बहुत जरुरी होता है | क्योकि  दो लोगों का विवाह अधिकांश Court में होता है| जिससे हमे पता होता है, कि दो लोगों ने एक विवाह समारोह किया है, जिसमें क्षेत्राधिकार शामिल होता  हैं, इस तथ्य को रिकॉर्ड रखने  के लिए एक ही दस्तावेज दिया जाता है ।

विवाह प्रमाण पत्र(marriage certificate) की आवश्यकता कई कारणों से हो सकती है क्योंकि यह आवश्यक हो सकता है कि तलाक की कार्यवाही के दौरान बच्चे की वैधता के मुद्दों पर पार्टी का नाम बदलने या अन्य प्रयोजनों के अलावा एक जमीनी विवादी मामलेमे बहुत आवश्यक होता है

वर्तमान में, विविध संस्कृतियों में विवाह पंजीकरण कानून की चुनौती को हल करने के लिए दो कानून बनाए गए हैं,

  • Hindu Marriage Act, 1955
  • The Special Marriage Act, 1954

भारत  सरकार ने 1914 से 2010 तक एक शताब्दी को कवर करते हुए राज्य के विवाह रिकॉर्ड को डिजिटल कर दिया है। अगर कोई नागरिक 1914 से 2010 तक पंजीकृत अपने विवाह रिकॉर्ड को खोजना चाहता है, तो वह www.goaonline.gov  पर जाकर इसका उपयोग कर सकता है। सेवा का लाभ उठाने के लिए खुद को पंजीकृत करें।  नई प्रणाली के कार्यात्मक होने के साथ, नागरिकों को 1914 से 2010 के बीच की अवधि के लिए शादी के रिकॉर्ड की खोज करने के लिए विभाग में जाने  की आवश्यकता नहीं होगी। लोग किसी भी समय कहीं भी गैर प्रमाणित विवाह  Recode को खोजने, देखने और download करने के लिए online जा सकते हैं।

भारत सरकार ने कहाँ है की  लगभग 8,60,000 दस्तावेजों को scane और upload किया गया है। उन्होंने कहा कि 2010 से 2019 तक शादी के दस्तावेज भी आने वाले महीनों में online उपलब्ध कराए जाएंगे। राज्य में औसतन 12,000 विवाह पंजीकृत हैं। ई-डिस्ट्रिक्ट मिशन मोड प्रोजेक्ट के तहत गोवा इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड के सहयोग से नई सुविधा शुरू की गई है।

Required documents

  • पति और पत्नी दोनों के सिग्नेचर पूर्ण रूप से भरा हुआ आवेदन पत्र
  • आयु प्रमाण (दोनों पक्षों के )
  • जन्म प्रमाणपत्र           
  • आधार कार्ड (दोनों पक्षों के )
  • शादी का निमंत्रण कार्डयदि उपलब्ध हो
  • विवाह के स्थान और विवाह की तिथि,
  • दो पासपोर्ट आकार की तस्वीरें (दोनों पक्ष),
  • एक शादी की तस्वीर
  • यदि विवाह एक धार्मिक स्थान पर आयोजित किया गया थातो पुजारी से एक प्रमाण पत्र
  • पुजारी से एक रूपांतरण प्रमाण पत्र जिसने विवाह (हिंदू विवाह अधिनियम के मामले मेंकी पुष्टि की।

 हिंदू विवाह अधिनियम के मामले में 100 / – और विशेष विवाह अधिनियम के मामले में रु। 150 / – जिले के रजिस्ट्रार के पास जमा करना होगा। रसीद को आवेदन पत्र के साथ जमा  किया जाना चाहिए।

नोट:  सभी दस्तावेज स्व-सत्यापित होने चाहिए।

सटीक प्रक्रिया क्या है?

हिंदू विवाह अधिनियम, 1954 के लिए

  • शादी के आवेदन पत्र को एकत्र करके भरा जाना चाहिए। पति और पत्नी को इस पर signature होना  चाहिए, साथ ही दो लोग  गवाह भी  होने चाइये |
  • फॉर्म में ऊपर दिए गए सारे documents   होना चाहिए। documents के सत्यापन के बाद, आपको रजिस्ट्रार के साथ एक नियत तारीख दी जाएगी ।
  • नियत तिथि पर, पति और पत्नी एक राजपत्रित अधिकारी के साथ उप जिला मजिस्ट्रेट के समक्ष व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होंगे जो शादी में शामिल हुए थे और विवाह रजिस्टर पर Signature करेंगे।
  • प्रमाण पत्र उसी दिन जारी किया जाता है।

विशेष विवाह अधिनियम, 1955 के लिए

आवेदन के साथ Document जमा किए जाने के बाद, आपत्तियों को आमंत्रित करने के लिए 30 दिन की Notice अवधि होती है।

नोटिस की एक प्रति कार्यालय के Notice Board  पर पोस्ट की जाती है, और Notice दोनों पक्षों के दिए गए पते पर भेजी जाती है।

उप जिला मजिस्ट्रेट के साथ पंजीकरण 30 दिनों की Notice अवधि के बाद किया जाता है।

तीन गवाहों के साथ दोनों पक्षों को पंजीकरण के समय उपस्थित होना चाहिए।

इस आर्टिकल ((Marriage Certificate)विवाह प्रमाण पत्र क्या है डिटेल ?) को पड़ने के लिए आपका धन्यवाद

निर्देश भारत हिंदी ख़बर (hindi news)(nirdeshbharat.com)  से जुड़े रहने के लिए हमारा फेसबुक और ट्विटर पेज लाइक करें

nirdeshbharat

# http://Nirdeshbharat.com एक नए युग का, स्वतंत्र, सोशल मीडिया संचालित व्यंग मंच है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *